Please assign a menu to the primary menu location under menu

Tuesday, May 28, 2024
बिज़नेस

दूसरी तिमाही में 8.4% रही GDP ग्रोथ, आठ कोर सेक्टर में विकास दर बढ़ी

Visfot News

नई दिल्ली
सरकार की ओर से दूसरी तिमाही में जीडीपी ग्रोथ के आंकड़े जारी कर दिए गए हैं। इनके मुताबिक, जुलाई सितंबर तिमाही की विकास दर में बढ़ोतरी देखने को मिली है। आंकड़ों के अनुसार, दूसरी तिमाही में भारत की जीडीपी 8.4 फीसदी की दर से बढ़ी है। कोर सेक्टर की अगर बात करें तो आठ कोर सेक्टर में विकास दर में इजाफा हुआ है। इनकी विकास दर अक्तूबर में 7.5 फीसदी की गति से आगे बढ़ी है।

सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय द्वारा मंगलवार को जारी किए गए आंकड़ों को देखें तो जीडीपी ग्रोथ में एक फीसदी का इजाफा हुआ है। वित्त वर्ष 2020-21 की जुलाई-सितंबर तिमाही में देश की जीडीपी -7.4 फीसदी रही थी। इससे पहले जून तिमाही में भारत की जीडीपी सबसे तेज दर के साथ बढ़ी थी। इस दौरान जीडीपी की 20.1 फीसदी की दर से बढ़ी थी।

अप्रैल-अक्तूबर के दौरान राजकोषीय घाटा पूरे साल के लक्ष्य के 36.3 फीसदी पर रहा है। कुल टैक्स रिसिप्ट 10.53 लाख करोड़ रुपये रहा है, जबकि कुल खर्च 18.27 लाख करोड़ रुपये रहा है। बता दें कि सरकार ने इस साल राजकोषीय घाटा 6.8 फीसदी पर रहने का अनुमान लगाया था।

उधर, देश के मुख्य आर्थिक सलाहकार (सीईए) डॉ. कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यम ने कहा कि फॉर्मल सेक्टर कोविड संकट के बाद तेजी से उभरा है, जबकि इस पर महामारी का खासा असर पड़ा था। इसके उत्पादन की प्रकृति बताती है कि यह कम प्रभावित रहेगा। ईसीए ने कहा कि वित्तीय क्षेत्र पहले से अधिक मजबूत होकर उभरा है और उत्पादन क्षेत्र दिखाता है कि इस दशक में भारत तेज रफ्तार से वृद्धि करेगा। उन्होंने कहा कि साल 2015 से 2019 के बीच कुल उत्पादन लागत, कारोबारी निर्यात और विनिर्मित वस्तुओं के निर्यात में भारत की सकल वार्षिक वृद्धि चीन से अधिक रही है।

RAM KUMAR KUSHWAHA

4 Comments

Comments are closed.

भाषा चुने »