Please assign a menu to the primary menu location under menu

Tuesday, May 28, 2024
देश

दुनिया की 10 दिग्गज विदेशी कंपनियां, जिनकी कमान संभालते हैं ‘भारतीय’

Visfot News

नई दिल्ली
भारतीय मूल के पराग अग्रवाल को ट्विटर का नया सीईओ बनाए जाने के बाद दुनिया ने एक बार फिर भारत की प्रतिभा का लोहा माना। आपको जानकर हैरानी होगी कि दुनिया 10 ऐसी दिग्गज टेक कंपनियां है जिसे सीईओ का जन्म भारत में हुआ है। आसान भाषा में कहें तो इन कंपनियों की कमान भारतीयों के हाथ में हैं। आज हम आपको ऐसे ही दिग्गज सीईओ से मिलवाने जे रहे हैं

1- पराग अग्रवाल (ट्विटर के सीईओ) 29 नवंबर को माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर के पूर्व सीईओ जैक डोर्सी के इस्तीफे के बाद भारत में जन्मे पराग अग्रवाल को कंपनी की कमान सौंपी गई है। भारतीय मूल के अमेरिकी पराग अग्रवाल ने आईआईटी मुंबई से इंजीनियरिंग की है। इसके बाद उन्होंने कंप्यूटर साइंस में पीएचडी अमेरिका की स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी से की। 2018 में पराग ने एडम मेसिंगर ली थीं।

2- सुंदर पिचाई (गूगल और अल्फाबेट के सीईओ) सुंदर पिचाई के बारे में कौन नहीं जानता, गूगल और अल्फाबेट का सीईओ बनाए जाने के बाद उन्होंने काफी सुर्खियां बंटोरी। वर्तमान में वह भारतीय युवाओं के आइडल हैं। साल 2014 में सुंदर पिचाई गूगल के हेड बने और साल 2019 में उन्हें अल्फाबेट की भी कमान सौंप दी गई। सुंदर ने आईआईटी खड़गपुर से पढ़ाई की है। 3- सत्या नडेला (माइक्रोसॉफ्ट के चेयरमैन और सीईओ)
 3- सत्या नडेला (माइक्रोसॉफ्ट के चेयरमैन और सीईओ) सबसे लंबे समय तक दुनिया के सबसे अमीर शख्स का खिताब अपने नाम करने वाले बिग गेट्स की कंपनी की कमान भी एक भारतीय के हाथ में ही है। माइक्रोसॉफ्ट के चेयरमैन और सीईओ सत्या नडेला हैं, जिन्होंने महिपाल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से पढ़ाई की है। उन्हें 2014 में माइक्रोसॉफ्ट की जिम्मेदारी दी गई।
4- शांतनु नारायण (एडोब के चेयरमैन, प्रेसिडेंट और सीईओ) दुनिया की दिग्गज कंप्यूटर सॉफ्टवेयर कंपनी एडोब को तो आप जानते ही होंगे। इसके चेयरमैन, प्रेसिडेंट और सीईओ शांतनु नारायण हैं। हैदराबाद में जन्मे शांतनु नारायण लंबे समय से एडोब के साथ जुड़े हुए हैं। उन्हें 1998 में सीनियर वाइस प्रेसिडेंट, 2005 में सीओओ और साल 2007 में सीईओ बनाया गया।

5- अरविंद कृष्णा (आईबीएम के चेयरमैन और सीईओ) आईआईटी कानपुर से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने वाले अरविंद कृष्णा वर्तमान में आईबीएम के चेयरमैन और सीईओ हैं। उन्हें आईबीएम में 30 साल का अनुभव है, वह 2020 में कंपनी के सीईओ बने।

6- रेवथी अद्वैत (फ्लेक्स की सीईओ) इस उपलब्धि में सिर्फ भारतीय पुरुषों का ही नहीं बल्कि महिलाओं का भी बड़ा योगदान है। राजस्थान के पिलानी में बैचलर डिग्री बिरला इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड साइंस करने वालीं रेवथी अद्वैत को साल 2019 में फ्लेक्स का सीईओ बनाया गया। उन्होंने मबीए थर्डरबर्ड स्कूल ऑफ ग्लोबल मैनेजमेंट से किया है।
7- निकेश अरोड़ा (पालो अल्टो नेटवर्क के सीईओ और चेयरमैन) पालो आल्टो नेटवर्क के सीईओ निकेश अरोड़ा का जन्म भी भारत में हुआ। उन्होंने बनारस हिंदू यनिवर्सिटी के इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से बैचलर डिग्री हासिल की है। निकेश अरोड़ा को साल 2018 में कंपनी की कमान सौंपी गई।
8- जयश्री उल्लाल (अरिस्ता नेटवर्क की प्रेसिडेंट और सीईओ) दिग्गज सीईओ की लिस्ट में दूसरी भारतीय महिला का नाम जयश्री उल्लाल हैं। साल 2008 में जयश्री उल्लाल को अरिस्ता नेटवर्क का सीईओ बनाया गया। दिलचस्प बात ये है कि जयश्री के नेतृत्व में ही कंपनी अपना पहला आईपीओ न्यूयार्क स्टॉक एक्सचेंज लेकर आई थी।
9- अंजली सूद (वीमियो की सीईओ) अंजली सूद लिस्ट की तीसरी भारतीय महिला हैं, वह लोकप्रिय वीडियो प्लेटफार्म वीमियो की सीईओ हैं। इससे पहले वह अमेजन और टीम वार्नर के साथ काम कर चुकी हैं। इन्होंने हार्वर्ड बिजनेस स्कूल से एमबीए किया है।
10-अरमान भूटानी (गोडैडी के सीईओ) वेबसाइट बनाने के क्षेत्र में लोकप्रिय कंपनी गोडैडी का एड अक्सर आपने टीवी पर देखा होगा। इस कंपनी के ब्रांड अम्बेसडर पूर्व क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी हैं, वहीं अरमान भूटानी गोडैडी के सीईओ हैं। इन्होंने अपनी बैचलर की डिग्री दिल्ली यूनिवर्सिटी से हासिल की।

RAM KUMAR KUSHWAHA

3 Comments

Comments are closed.

भाषा चुने »