Please assign a menu to the primary menu location under menu

Saturday, November 26, 2022
खास समाचार

कलेक्टर ने ढड़़ारी, चौका, मातगुवां, गहरवार तथा ईशानगर का निरीक्षण किया

कलेक्टर ने ढड़़ारी, चौका, मातगुवां, गहरवार तथा ईशानगर का निरीक्षण कियाकलेक्टर ने ढड़़ारी, चौका, मातगुवां, गहरवार तथा ईशानगर का निरीक्षण किया
Visfot News

छतरपुर। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण और मुख्यमंत्री अन्न योजना प्रदेश में गरीब परिवारों के लिए सहारा बनी है। इस योजना से प्रत्येक पात्र हितग्राही को मिल रहे 10 किलो खाद्यान्न से अब उन्हें भूखे रहने की चिंता नहीं सताती है। ग्राम की महिलाओं ने कहा कि कोविड संकटकाल में काम के आभाव से खाने की व्यवस्था करने का संकट सामने आ खड़ा हुआ तब उस वक्त इस योजना को लागू करके प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री ने गरीबों के लिए प्राण संजीवनी प्रदान की है। नि:शुल्क खाद्य मिलने के बाद ग्रमीणों ने खुशी-खुशी कहा कि रोटी के प्रबंध के लिए ”ना काहू की चिंता ना काहू की फिक्रÓÓ। छतरपुर जिले में कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह के निर्देशन में जिले के चिन्हित 2 लाख 56 हजार 500 परिवारों को इस योजना का बेहतर लाभ मिल रहा है। जिले के क्या ग्रामीण क्या शहरी क्षेत्र में समाज मे रहने वाले कमजोर तबकों के लिए पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना में भूखे व्यक्ति की भूख की चिंता को कम ही नहीं किया बल्कि कमतर किया है।

जिले के बुजुर्गों एवं महिलाओं ने देश के प्रधानमंत्री और प्रदेश के मुख्यमंत्री के प्रति कृतज्ञता प्रकट करते हुए कोटि-कोटि आभार व्यक्त किया है।कलेक्टर श्री सिंह ने छतरपुर तहसील के सेवा सहकारी समिति केन्द्र ढड़ारी, चौका, मातगुवां, गहरवार तथा ईशानगर का निरीक्षण करते हुए हितग्राहियों से प्राप्त खाद्यान्न की जानकारी लेते हुए राशन कार्ड पर परिवार की संख्या के मान से लिए गए खाद्यान्न की जानकारी ली। उन्होंने हितग्राहियों से चर्चा करते हुए कहा कि आगामी अक्टूबर और नवम्बर माह में भी प्रत्येक व्यक्ति को दस-दस किलो राशन उपलब्ध होगा। कलेक्टर ने हितग्राहियों के राशन कार्ड, पात्रता पर्ची की जानकारी भी ली। उन्होंने कहा कि परिवार के सदस्यों के आधार कार्ड कम्प्यूटर पर अध्यतन कराने और आधार से लिंक कराने के निर्देश दिए। जिससे जिस व्यक्ति का नाम छूट गया है, उनके नाम भी पात्रता पर्ची भी जारी हो सके और इस प्रक्रिया के आधार पर छूटे व्यक्तियों को भी योजना का लाभ मिल सके। कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह ने सेवा सहकारिता समिति मातगुवां में नि:शुल्क खाद्यान्न वितरण की जानकारी लेने के बाद अधूरे पड़े पंचायत भवन का निरीक्षण करते हुए सचिव को निर्देश दिए की अगले सात दिनों में शेष बचे निर्माण कार्य को पूर्ण कराएं, कार्य नहीं कराने अथवा अधूरा छोडऩे की स्थिति में पद से निलंबित करने की कार्यवाही की जाएगी। निरीक्षण में पाया गया कि बीते 6 से 8 महीनों में निर्माण कार्य को गति नहीं दी गई।

शासकीय भूमि पर बनी अवैध गुमटियों को हटाने का निर्देश

कलेक्टर श्री सिंह ने सेवा सहकारी समिति मातगुवां के प्रागंण में शासकीय भूमि में अवैध गुमटियां पायी जाने पर नाराजगी प्रकट की और एसडीएम छतरपुर को निर्देशित किया कि शासकीय भूमि पर काबिज अवैध गुमटियों को तत्काल हटवाये। उन्होंने राशन दुकानों पर खाद्यान्न लेने आए व्यक्तियों से कोविड टीकाकरण की जानकारी भी ली। ग्राम चौका में लल्लू कुशवाहा द्वारा अभी तक कोविड टीकाकरण का पहला डोज भी नहीं लगवाने पर उसे ग्राम के निकट अथवा छतरपुर के स्वास्थ्य केन्द्र पर टीका लगवाने का परामर्श दिया। कलेक्टर ने ग्राम गहरवार में पात्रता पर्ची में लोगों के नाम छूटे जाने की घटना को गंभीरता से लिया और एसडीएम छतरपुर और जेएसआई खाद्य विभाग को आधार लिंकेज की कार्यवाही तुरंत करने के निर्देश दिए।

RAM KUMAR KUSHWAHA
भाषा चुने »