Please assign a menu to the primary menu location under menu

Saturday, April 20, 2024
डेली न्यूज़

विद्युत कर्मचारियों ने एक दिवसीय कार्य का किया बहिष्कार

Visfot News

छतरपुर। म.प्र. विद्युत अधिकारी कर्मचारी संयुक्त मोर्चा के बैनर तले चल रहे आंदोलन के द्वितीय चरण में अधिकारी-कर्मचारियों ने अपनी 5 मांगों को लेकर बीते रोज एक दिवसीय कार्य बहिष्कार किया और बताया कि अब भी अगर मांगों को पूरा नहीं किया गया तो आगामी 13 अगस्त से वे अनिश्चितकालीन हड़ताल करेंगे इसके लिए प्रदेश में ब्लैक-आउट करने की तैयारी भी कर ली गई है।विदित हो कि म.प्र विद्युत अधिकारी कर्मचारी संयुक्त मोर्चा प्रदेश के प्रमुख 17 संगठनों का महागठबंधन है जिसके अध्यक्ष जीके वैष्णव और संयोजक कुलदीप गुर्जर हैं। कार्यकारी अध्यक्ष शंभुनाथ सिंह, मुकेश मेहना, अरविन्द सिंह, सुशील पाण्डे और शिव राजपूत ने संयुक्त रूप से प्रेस को बताया कि केंद्र सरकार द्वारा विद्युत सुधार विधेयक 2021 के माध्यम से बिजली सेक्टर एवं अरबों की संपत्ति को मात्र 1 रुपये में बेचा जा रहा है जिस कारण से न केवल बिजलीकर्मियों बल्कि उपभोक्ताओं को भी सब्सिडी तथा समय-समय पर मिलने वाली छूट से वंचित होना पड़ेगा। मोर्चा द्वारा की जा रही मांगों में बिजली कंपनी का निजीकरण न किए जाने, आउटसोर्स कर्मचारियों का बिजली कंपनी में संविलयन किए जाने, 45 वर्ष से अधिक आयु वाले तथा कम योग्यता वाले आउटसोर्स कर्मचारियो को नौकरी से न निकाले जाने, संविदा कर्मचारियों को नियमित किए जाने, कोरोना काल में मृत कर्मचारियों को कोरोना योद्धा घोषित कर बिना शर्त के अनुकंपा नियुक्ति देने तथा केंद्र के अनुरूप 28 प्रतिशत महंगाई भत्ता तथा वार्षिक सेवनिवत्र्ति दिए जाने की मांग शामिल है। हड़ताल कर रहे कर्मचारियों में बीडी गौतम, श्यामलाल यादव, शिवबहादुर सिंह, आरसी सोमानी, शिवनारायण राजपूत के अलावा मप्र बिजली कर्मचारी महासंघ संविदा प्रकोष्ठ, विद्युत अजाक्स फेडरेशन, मप्र सेवानिवृत्त कर्मचारी संघ के सदस्य मौजूद रहे।

RAM KUMAR KUSHWAHA
भाषा चुने »