Please assign a menu to the primary menu location under menu

Friday, December 2, 2022
डेली न्यूज़मध्यप्रदेश

गुंडों और बदमाशों के खिलाफ चला प्रशासन का बुल्डोजर, 30 से ज्यादा संदिग्ध दबोचे गए

गुंडों और बदमाशों के खिलाफ चला प्रशासन का बुल्डोजर, 30 से ज्यादा संदिग्ध दबोचे गएगुंडों और बदमाशों के खिलाफ चला प्रशासन का बुल्डोजर, 30 से ज्यादा संदिग्ध दबोचे गए
Visfot News

छतरपुर। कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह और पुलिस अधीक्षक सचिन शर्मा के संयुक्त निर्देशन पर गुण्डे और बदमाशों के खिलाफ चलाया जा रहा अभियान अब और तेज हो गया है। मंगलवार की रात पुलिस प्रशासन और नगर पालिका की संयुक्त टीम ने जहां शहर के बस स्टेण्ड पर कई असामाजिक तत्वों को दबोचकर अवैध अतिक्रमण धराशायी किए तो वहीं बुधवार की सुबह 7 बजे से ही माफियाविरोधी अभियान के तहत दो गुण्डों के अवैध अतिक्रमण को धराशायी किया गया तो वहीं गौसेवा के नाम पर एक व्यक्ति के द्वारा कब्जायी गई शासकीय जमीन को भी मुक्त कराया गया। कार्यवाही के दौरान एएसपी विक्रम सिंह परिहार के नेतृत्व में एडीएम, 5 डीएसपी, 15 थाना प्रभारी, 100 से ज्यादा पुलिसकर्मी, तहसीलदार और नपा के अधिकारी, कर्मचारी मौजूद रहे।

सुबह आंख खुलते ही सुनाई दी जेसीबी की आवाज

माफियाविरोधी अभियान के तहत छतरपुर कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह और एसपी सचिन शर्मा के निर्देशन में पिछले एक महीने से गुण्डे और बदमाशों को सूचीबद्ध कर उनकी अवैध संपत्तियों को चिन्हित किया जा रहा है। एक सप्ताह पहले कुछ बदमाशों के घरों की नापतौल कराई गई थी। इसी प्रक्रिया के तहत विगत रोज एसपी सचिन शर्मा ने जिले के सभी पुलिस अधिकारियों के साथ एक बैठक बुलाई और बुधवार की कार्यवाही के निर्देश दिए। सुबह 7 बजे 15 थानों का पुलिस फोर्स, राजस्व और नगर पालिका की टीमें पुलिस लाइन में एकत्रित हुईं। यहां से सभी टीमें सबसे पहले ट्रांसपोर्ट नगर पर रहने वाले राकेश यादव के घर पहुंची जिसने एक सप्ताह पहले एक युवक को गोली मारी थी। पुलिस बल ने राकेश के मकान में बने अवैध निर्माण को जेसीबी की मदद से तोड़ डाला। राकेश का परिवार कुछ समझ पाता इसके पहले ही पुलिस ने पूरा घर घेर रखा था। परिवार के लोगों को सुरक्षित घर से बाहर निकाला गया और फिर मकान पर जेसीबी चलवाई गई। मकान का छज्जा सहित कुछ हिस्सा तोड़कर पुलिस ने चेतावनी दी है कि यदि आपराधिक

घटनाएं नहीं रूकीं तो कार्यवाही और बड़ी होगी।

ट्रांसपोर्ट नगर के बाद पुलिस बल सीधे नारायणपुरा रोड पहुंचा जहां हत्या जैसे संगीन मामलों में चिन्हित तारिक सौदागर के मकान को घेरा गया। मकान के ऊपर पुलिस का ड्रोन कैमरा उड़ रहा था और पुलिस ने घर के लोगों को एनाउंस कर बाहर निकाला। तारिक की पत्नि ने बाहर आकर घर के कागजात प्रशासनिक अधिकारियों को दिखाए लेकिन फिर भी अधिकारियों ने उसकी नहीं सुनी और मकान के बाहरी हिस्से में मौजूद अतिक्रमण को जेसीबी से धराशायी कर दिया। यहां का अतिक्रमण हटाने के बाद पुलिस बल महोबा रोड होते हुए राजनगर बाईपास से ग्राम सरानी के नजदीक पहुंचा। यहां शासकीय खसरा नंबर 56 पर रामनाथ विश्वकर्मा के द्वारा अवैध कब्जा किया गया था। रामनाथ के खिलाफ तहसील से बेदखली आदेश जारी हो चुका था इसलिए इस अतिक्रमण को भी प्रशासनिक टीमों ने धराशायी कर दिया। प्रशासन ने निर्देशित किया कि यदि भविष्य में पुन: अतिक्रमण किया गया तो सख्त कार्यवाही की जाएगी। डीएसपी शशांक जैन ने कहा कि माफियाविरोधी अभियान के तहत कई गुण्डों की अवैध संपत्तियों को चिन्हित किया गया है इन संपत्तियों की जांच पड़ताल केे बाद उनके विरूद्ध कार्यवाही का यह अभियान जारी रहेगा।

बस स्टेण्ड पर अचानक पहुंचा पुलिस फोर्स, 30 से ज्यादा संदिग्ध दबोचे, पूछताछ और समझाइश के बाद छोड़े

दो दिन पहले मीडिया के द्वारा शहर के बस स्टेण्ड पर बढ़ती दहशतगर्दी, गुण्डों के द्वारा की जा रही अवैध वसूली का मुद्दा प्रमुखता से उठाया था। इस मुद्दे को वरिष्ठ अधिकारियों ने गंभीरता से लिया। मंगलवार की शाम एसपी सचिन शर्मा ने पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक कर डीएसपी शशांक जैन के नेतृत्व में पांच थानों की पुलिस को बस स्टेण्ड पर जांच-पड़ताल के लिए भेजा। अचानक शाम के वक्त भारी पुलिस बल के बस स्टेण्ड पर पहुंचने के कारण यहां सनसनी फैल गयी। पुलिस टीम ने बस के बुकिंग ऑफिस के आसपास घूम रहे उन बदमाशों को पकड़ा जो बस के स्टाफ से रंगदारी वसूलते हैं। कुछ नशेलची भी चिन्हित किए गए जो यात्रियों को ठगने की फिराक में रहते हैं। लगभग 25 से 30 संदिग्धों को पकड़कर उन्हें काफी देर तक चौकी में बैठाया गया। उनकी पूछताछ और जांच के बाद तीन लोगों को 151 के तहत पकड़ा गया जबकि बाकी को समझाइश देकर छोड़ दिया गया। इस कार्यवाही के दौरान डीएसपी शशांक जैन ने मीडिया से कहा कि बस स्टेण्ड पर नियमित निरीक्षण जारी रहेगा। जो बस संचालक समय से पहले यहां बसें रखते हैं उनके खिलाफ भी कार्यवाही होगी। संदिग्ध लोगों की धरपकड़ के बाद साथ में मौजूद नगर पालिका की टीम के द्वारा बस स्टेण्ड पर मौजूद अवैध अतिक्रमण को तोड़ा गया। कई दुकानों के टीनशेड, सरकारी जमीन में बनी सीढिय़ां हटाई गईं।

RAM KUMAR KUSHWAHA
भाषा चुने »