Please assign a menu to the primary menu location under menu

Tuesday, December 6, 2022
डेली न्यूज़

प्रेमिकाओं को खुश करने के लिए करते थे चोरी

प्रेमिकाओं को खुश करने के लिए करते थे चोरी

प्रेमिकाओं को खुश करने के लिए करते थे चोरीप्रेमिकाओं को खुश करने के लिए करते थे चोरी
Visfot News

छतरपुर। जिले में बढ़ रही चोरी की घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस सक्रियता से कार्यवाहियां कर रही हैं। बीते दिनों नौगांव थाना क्षेत्र से हुई ट्रैक्टर-ट्रॉली की चोरी का खुलासा रविवार को पुलिस ने किया है। बताया जा रहा है कि चोरी की वारदात को दो बेरोजगार युवकों ने एक आदतन अपराधी के साथ अंजाम दिया था। चोरी की संपत्ति को बेचकर चोर अपनी प्रेमिकाओं को खुश करने वाले थे लेकिन उससे पहले ही पुलिस ने उन्हें दबोच लिया। पुलिस ने घटना में प्रयुक्त बाईक सहित चोरी के ट्रैक्टर-ट्रॉली को जप्त कर लिया है। इस कार्यवाही में नौगांव थाना प्रभारी अभिषेक चौबे के अलावा गर्रोली चौकी प्रभारी दीपक यादव, प्रधान आरक्षक दादूराम, रामआसरे, आरक्षक लाखन, राहुल राजा, भूपेन्द्र यादव, कुलदीप, अरविन्द, बृजराज और लोकेश की सराहनीय भूमिका रही।
क्या है मामला
विगत 5 सितंबर को राजपाल सिंह परमार निवासी बगौरा थाना अजनर हाल निवासी जेल चौराहा नौगांव ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराते हुए बताया कि 4 और 5 सितंबर की रात अज्ञात चोर उनके दरवाजे पर खड़ा महिन्द्रा ट्रैक्टर और ट्रॉली चोरी कर ले गए हैं। रिपोर्ट दर्ज करने के बाद नौगांव थाना प्रभारी अभिषेक चौबे ने वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में गर्रोली चौकी प्रभारी दीपक यादव के नेतृत्व में एक टीम गठित की। टीम ने मुखबिर तंत्र को सक्रिय किया तो जानकरी सामने आई कि चोरी गई ट्रैक्टर-ट्रॉली सिविल लाइन थाना क्षेत्र छतरपुर में एचपी पेट्रोल पम्प के पास सटई रोड पर रखी है। जानकारी लगते ही पुलिस ने ट्रैक्टर-ट्रॉली के साथ संदेही जयहिन्द सिंह पुत्र गोविन्द सिंह 19 वर्ष निवासी ग्राम बदावर थाना गुलगंज को हिरासत में लिया। सख्ती से पूछताछ की गई तो जयहिन्द ने बताया कि ट्रैक्टर-ट्रॉली को उसने अपने साथी रामप्रसाद उर्फ राजा पुत्र टूड़ा श्रीवास 29 वर्ष निवासी देरी रोड पंचवटी कॉलोनी थाना सिविल लाइन छतरपुर और विष्णु पुत्र रमाशंकर ताम्रकार 30 वर्ष निवासी ग्राम ओयल जिला लखीमपुर खीरी थाना खीरी हाल निवासी अंबेडकर नगर कालोनी थाना सिविल लाइन छतरपुर की मदद से चोरी किया। जयहिन्द द्वारा बताए गए दोनों आरोपियों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया।
दो को बेरोजगारी ने बनाया चोर, एक है आदतन अपराधी
पकड़े गए चोर विष्णु ताम्रकार ने बताया कि उसने कुछ समय पूर्व प्रेम विवाह किया था जिसके बाद उस पर परिवार की जिम्मेदारी बढ़ गई। उसके पास आमदनी का कोई स्रोत नहीं था इसलिए उसने चोरी करना शुरु कर दिया। इसी तरह दूसरे चोर जयहिन्द सिंह ने भी पैसों की जरूरत को पूरा करने के लिए चोरी की घटना में सहयोग किया। तीसरा चोर रामप्रसाद उर्फ राजा श्रीवास आदतन अपराधी है। वह अभी 20 दिन पहले ही जेल से रिहा हुआ है। रामप्रसाद को अपनी प्रेमिका से मिलने दिल्ली जाना था लेकिन उसे पैसे, मोबाइल, बाईक और कपड़ों की जरूरत थी। अपनी इन्हीं जरूरतों को पूरा करने के लिए वह चोरी की वारदात में शामिल हुआ था। रामप्रकाश के विरुद्ध छतरपुर और टीकमगढ जिले में हत्या, हत्या के प्रयास, लूट, चोरी, अपहरण के मामले पहले से दर्ज हैं। उक्त आरोपियों ने कुछ दिन पहले घुवारा चौकी क्षेत्र में एक लूट की वारदात को भी अंजाम दिया था।

RAM KUMAR KUSHWAHA
भाषा चुने »