Please assign a menu to the primary menu location under menu

Saturday, November 26, 2022
धर्म कर्म

नेशनल लोक अदालत में 5 करोड़ 14 लाख 25 हजार राशि के 1354 मामले निपटे, 2401 लोग हुए लाभान्वित

नेशनल लोक अदालत में 5 करोड़ 14 लाख 25 हजार राशि के 1354 मामले निपटे, 2401 लोग हुए लाभान्वित

नेशनल लोक अदालत में 5 करोड़ 14 लाख 25 हजार राशि के 1354 मामले निपटे, 2401 लोग हुए लाभान्वितनेशनल लोक अदालत में 5 करोड़ 14 लाख 25 हजार राशि के 1354 मामले निपटे, 2401 लोग हुए लाभान्वित
Visfot News

छतरपुर। राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नईदिल्ली एवं राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर के निर्देशन में शनिवार को जिला न्यायालय एवं तहसील न्यायालयों में नेशनल लोक अदालत को आयोजन किया गया। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण छतरपुर के तत्वाधान में एडीआर सेन्टर भवन में जिला एवं सत्र न्यायाधीश हृदेश श्रीवास्तव ने मां सरस्वति के चित्र पर दीप प्रज्ज्वलित कर नेशनल लोक अदालत का शुभारंभ किया। विशेष न्यायाधीश एसएस परमार, कुटुम्ब न्यायालय प्रधान न्यायाधीश ओपीएस रघुवंशी, विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव एडीजे अनिल कुमार पाठक, एडीजे सुधांशु सिंहा, एडीजे अखिलेश कुमार मिश्रा, एडीजे राजेश कुमार अग्रवाल, एडीजे राजेश कुमार देवलिया, एडीजे रामलाल शाक्य, एडीजे शोएब खान, न्यायिक मजिस्ट्रेट राजू सिंह डाबर, देवेश मिश्रा, भपेंद्र यादव, संध्या मिश्रा, आकांक्षा यादव, जिला अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष राकेश दीक्षित, बीमा कंपनिया, बिजली विभाग, नगर पालिका, बीएसएनएल, एवं जिला अदालत में पदस्थ सभी अधिकारी एवं कर्मचारीगण, पक्षकारगण मौजूद रहे।
अब खुशी से रहेंगे दम्पत्ति:
एडवोकेट लखन राजपूत ने बताया कि जिला अदालत में 12 एवं सभी तहसील न्यायालयों में 21 खण्डपीठो का गठन कर आपसी सुलह समझौतो के आधार पर मामलों का निराकरण किया गया। माजिदा खान की शादी साबिर खान निवासी इंदौर के साथ 15 मई 2006 में हुई थी। माजिका 2 बेटिया है। पति से विवाद होने के चलते माजिदा ने फैमिली कोर्ट में 8 जनवरी 2019 को मामला पेश किया था। माजिदा और साबिर 2018 से अलग अलग रह रहे थे। लोक अदालत में आपसी सुलह से यह बिछड़ा परिवार फिर साथ रहने लगा। सत्यवती अहिरवार छतरपुर की शादी बीरेंद्र अहिरवार लवकुशनगर के साथ दिसंबर 2016 में हुई थी। सत्यवती की एक 2 साल का एक बेटा और 4 साल की एक बेटी है। करीब 3 सालों से अलग रहने के बाद यह टूटा परिवार साथ रहने लगा। इसके साथ ही निदा फातिमा छतरपुर पति आरिफ खान, सुखवती प्रजापति हिम्मतपुरा पति सुरेंद्र प्रजापति महाराजपुर, प्रियंका तिवारी पति ज्योति तिवारी महेबा, शीला अहिरवार पति जवाहर अहिरवार निवासी फरीदाबाद, ज्योति अहिरवार पति राजाराम अहिरवार सद्दूपुरा सहित दर्जनो मामले जिनमें पारिवारिक कारणों के चलते विवाद बना हुआ था। शनिवार को नेशनल लोक अदालत के मौके पर इस तरह के मामलो में कुटुम्ब न्यायालय के प्रधान न्यायाधीश ओपीएस रघुवंशी ने पति-पत्नी को बुलाकर उन्हें समझाईश दी। आखिरकार बच्चों और परिवार के प्रति समर्पण दिखाते हुए पति-पत्नी ने अदालत के सामने एक-दूसरे के साथ रहने का वादा किया। और इस तरह अदालत की पहल पर यह टूटते हुए परिवार फिर मिल गए। और खुशी पूर्वक एक-दूसरे के साथ दाम्पत्य जीवन का निर्वाह करने घर चले गए। इस दौरान पति पति ने एक कोर्ट में ही एक दूसरे को माला पहनाई और मिठाई खिलाकर खुशी का इजहार किया।
712 लंबित मामलों का हुआ निराकरण, 4 करोड़ 26 लाख 72 हजार 807 रूपए की अवार्ड हुई राशि, 1655 लोग हुए लाभान्वित:
नेशनल लोक अदालत में 3274 लंबित मामले रखे गए थे जिनमें 712 मामलों का आपसी सहमति से राजीनामा कर निराकरण किया गया और इन मामलों में 4 करोड़ 26 लाख 72 हजार 807 रूपए की राशि अवार्ड की गई। इन मामलों में 1655 लोगों को लाभ मिला है। दुर्घटना क्लेम के 70 मामलों का निराकरण कर एक करोड़ 2 करोड़ 79 लाख 43 हजार रुपए की राशि अवार्ड की गई और 299 लोगों को लाभान्वित किया गया। चेक बाउंस के 534 मामलों में 85 मामलों का निराकरण कर एक करोड़ 14 लाख 67 हजार 510 रूपए का अवार्ड पारित कर 170 लोगों को इसका लाभ दिया गया। पति-पत्नी के बीच चल रहे 358 मामलो में 80 मामलो का निराकरण हुआ जिसमें 178 लोग लाभान्वित हुए। 636 आपराधिक मामलों में 176 मामले निराकृत कर 426 लोगों को लाभ दिया गया। बिजली बिलों से संबंधित 410 मामलों में से 131 मामलों का निराकरण कर 19 लाख 9 हजार 780 रुपए वसूल कर 146 लोगों को लाभान्वित किया गया। 885 अन्य मामलों में 170 मामलों का निराकरण कर 12 लाख 72 हजार 508 रूपए की राशि अवार्ड कर 436 लोग लाभान्वित हुए।
प्रीलिटीगेशन के 642 मामलों में 87 लाख 28 हजार 808 रुपए की राशि वसूली:
लोक अदालत में कोर्ट में आने के पूर्व विवादित अन्य विभागों के मामलों का भी निराकरण किया गया जिनमें बैंकों के वसूली के 4096 मामलों में 156 मामलो का निराकरण कर 42 लाख 2 हजार 342 रुपए की राशि वसूली गई और 157 लोगों को लाभ मिला। नगर पालिका के जल कर के 1149 मामलों में 104 मामलो का निराकरण कर 10 लाख 10 हजार 604 रूपए की राशि वसूल कर 110 लोगों को लाभ मिला। विद्युत विभाग के 4740 मामलों में 294 मामलो का निराकरण कर 31 लाख 44 हजार 2284 रूपए वसूल किए गए और 386 लोगो को लाभ मिला। इसके साथ ही 491 अन्य मामलों में 88 मामलो का निराकरण कर 3 लाख 71 हजार 578 रूपए की राशि वसूल कर 93 लोगों को लाभान्वित किया गया।

RAM KUMAR KUSHWAHA
भाषा चुने »