Please assign a menu to the primary menu location under menu

Saturday, November 26, 2022
मध्यप्रदेश

1989 बैच के आईएएस अफसरों को मिलेगा प्रमोशन, 9 अफसर होंगे डीजी रैंक में प्रमोट

Visfot News

एडीजी सुशोभन बनर्जी और संजय माने को नहीं मिलेगा प्रमोशन
भोपाल। मप्र कैडर के 1989 बैच के आईपीएस अफसरों को प्रमोशन देने के लिए डिपार्टमेंटल प्रमोशन कमेटी की बैठक मंत्रालय हुई है। कमेटी ने इस बैच के 11 में से 9 अफसरों को अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक से डीजी रैंक में प्रमोशन देने की मंजूरी दे दी है। जबकि दो अफसर सुशोभन बनर्जी और संजय वी माने को प्रमोट नहीं करने का निर्णय लिया गया है। दोनों अफसरों के खिलाफ लोकसभा चुनाव में कालेधन का इस्तेमाल करने के मामले में जांच चल रही है। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड की रिपोर्ट में बनर्जी व माने का नाम आया था। मंत्रालय सूत्रों ने बताया कि 1989 बैच के अफसरों को प्रमोशन देने के लिए डीपीसी की बैठक में मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, डीजीपी विवेक जौहरी, अपर मुख्य सचिव आईसीपी केसरी और डा. राजेश राजौरा मौजूद रहे। इस बैच के एडीजी मिलिंद कानेस्कर, मुकेश कुमार जैन, संजय कुमार झा, अजय कुमार शर्मा, गोविंद प्रताप सिंह, राजेश चावला, पीएस फालिनकर, जीआर मीणा व सुषमा सिंह को डीजी रैंक में प्रमोशन पर मुहर लगाई गई है।
इस साल सिर्फ एक अफसर को मिलेगा प्रमोशन
इस साल इस बैच के सिर्फ एक अफसर मिलिंद कानस्कर को डीजी रैंकपर प्रमोशन मिलेगा। दरअसल, डीजी रैंक के पद खाली नहीं होने के कारण 1988 बैच के एक अफसर कैलाश मकवाना को प्रमोशन नहीं मिल पाया था, लेकिन इस साल डीजी रैंक के दो अफसर अशोक दोहरे और विजय यादव रिटायर हो रहे हैं। ऐसे में पहले मकवाना और फिर 1989 बैच के कानस्कर को प्रमोट किया जाएगा।
11 अफसरों के आईपीएस बनने का रास्ता साफ
राज्य पुलिस सेवा से भारतीय पुलिस सेवा में प्रमोट करने के लिए होने वाली डीपीसी का रास्ता भी साफ हो गया है। पहले 11 पदों के लिए गृह विभाग डीपीसी कराएगा। इसके बाद केडर रिव्यू में इस साल स्वीकृत होने वाले पदों के लिए डीपीसी होगी। अब तक संभावना थी कि 11 पदों और इस साल होने वाले केडर रिव्यू में स्वीकृत होने वाले पदों की डीपीसी साथ होगी। इससे डीपीसी में समय लग सकता था। जिससे पहले 11 पदों पर एसपीएस से आईपीएस बनने वाले पुलिस अफसरों को और इंतजार करना पड़ता। पीएचक्यू सूत्रों ने बताया कि कोरोना की वजह से यह डीपीसी मार्च में हो जानी चाहिए थी, लेकिन अब तक डीपीसी की प्रक्रिया ही चल रही है। इस सप्ताह पुलिस मुख्यालय डीपीसी कराने के लिए प्रस्ताव राज्य शासन को भेज देगा। जिसके बाद राज्य शासन प्रस्ताव को केन्द्रीय गृह मंत्रालय हो भेजेगा। इसके बाद डीपीसी की प्रक्रिया पूरी की जाएगी। पूरी उम्मीद है कि इस माह के अंत तक डीपीसी की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। इस डीपीसी में 1995 और 1996 बैच के राज्य पुलिस सेवा के अफसरों को आईपीएस पद पर प्रमोट किया जाएगा।
इन अफसरों का होगा आईपीएस में प्रमोशन
अब तक की स्थिति के मुताबिक प्रकाश चंद्र परिहार, निश्चल झारिया, रसना ठाकुर, संतोष कोरी, जगदीश डाबर, मनोहर सिंह मंडलोई, रामजी श्रीवास्तव, जितेन्द्र सिंह पवार, सुनील तिवारी, संजीव कुमार सिन्हा और संजीव कुमार कंचन को आईपीएस पर पदोन्नत किया जाएगा। जबकि इस सभी सीनियर होने के बावजूद अनिलकुमार मिश्रा और देवेन्द्र कुमार सिरोलिया को प्रमोशन नहीं मिल सकेगा। इसकी वजह है कि मिश्रा रेप के मामले में लंबे समय से फरार चल रहे हैं, जबकि सिरोलिया की उम्र 56 साल से अधिक हो जाने से उनके नाम पर विचार नहीं किया जाएगा।

RAM KUMAR KUSHWAHA
भाषा चुने »