Please assign a menu to the primary menu location under menu

Saturday, November 26, 2022
डेली न्यूज़

ओबीसी महासभा ने जातिगत जनगणना, आरक्षण की मांग की

ओबीसी महासथा ने जातिगत जनगणना, आरक्षण की मांग की

ओबीसी महासथा ने जातिगत जनगणना, आरक्षण की मांग कीओबीसी महासथा ने जातिगत जनगणना, आरक्षण की मांग की
Visfot News

छतरपुर। ओबीसी महासभा की जिला इकाई ने सोमवार को कलेक्टर के माध्यम से सभी राज्यों तथा केन्द्र शासित प्रदेशों के राज्यपाल को ज्ञापन भेजकर जातिगत फोर्मेट में ओबीसी का कोलम जोड़कर ओबीसी वर्ग की जातिगत जनगणना कराये जाने, शिक्षक भर्ती परीक्षा 27 प्रतिशत आरक्षण के साथ संपन्न कराने सहित अन्य समस्याओं का निराकरण कराने की मांग की है। ओबीसी महासभा के युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष पुष्पेन्द्र कुशवाहा के नेतृत्व में सौंपे गए इस ज्ञापन में लेख है कि म.प्र. शासन द्वारा जारी आंकड़ो के अनुसार प्रदेश में करीब 50 फीसदी आबादी ओबीसी वर्ग की है लेकिन उसके बाद भी ओबीसी वर्ग के अधिकार पर कुठाराघात किया जा रहा है।

ज्ञापन में आगामी जनगणना में जातिगत जनगणना कराने के लिए विधानसभा में विधेयक पारित कर केंद्र को भेजने का आग्रह किया गया है। इसके अलावा ओबीसी वर्ग के लिए लागू असंवैधानिक क्रीमीलियर की बाध्यता को समाप्त करने की मांग भी की गई है। श्री कुशवाहा ने बताया कि मध्यप्रदेश हाई कोर्ट ने आरक्षण संबंधित लंबित विभिन्न याचिकाओं में जातिवादी मानसिकता के साथ न्यायाधीश ने 10 प्रतिशत सवर्ण आरक्षण को यथावत रखा और ओबीसी के 27 प्रतिशत आरक्षण को लागू न करते हुए 13 प्रतिशत आरक्षण रिजर्व रखने का आदेश पारित किया जो कि अन्यायपूर्ण है, इस आदेश का विरोध भी ज्ञापन में किया गया है। इसके अलावा शिक्षक भर्ती परीक्षा 27 प्रतिशत आरक्षण के आधार पर किए जाने की मांग भी की गई है। मांगें पूरी न होने पर आंदोलन की चेतावनी दी गई है। इस मौके पर सैंडी सिंह, कामिनी रैकवार, ओबीसी के चयनित शिक्षक सुरेंद्र पटेल, प्रमोद श्रीवास, लखन चौरसिया, विनोद साहू, बीके विद्रोही, मुकेश साहू, अभय कुशवाहा, राजेश, विनोद, धर्म सिंह आदि मौजूद रहे।

RAM KUMAR KUSHWAHA
भाषा चुने »