Please assign a menu to the primary menu location under menu

Tuesday, December 6, 2022
खास समाचारडेली न्यूज़

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिन को बेरोजगार दिवस के रूप में मनाया

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिन को बेरोजगार दिवस के रूप में मनाया

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिन को बेरोजगार दिवस के रूप में मनायाप्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिन को बेरोजगार दिवस के रूप में मनाया
Visfot News

छतरपुर। देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 71वें जन्मदिन को युवा कांग्रेस के आह्वान पर छतरपुर युवा कांग्रेस ने राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस के रूप में मनाया। आज दोपहर युवा कांग्रेस के कार्यकर्ता जिला कांग्रेस कार्यालय राजीव भवन में एकत्रित हुए और फिर यहां से एक जुलूस लेकर मोदी सरकार के खिलाफ जबर्दस्त नारेबाजी करते हुए छत्रसाल चौक पहुंचे। यहां पर युवाओं ने विरोध स्वरूप पकोड़े तलकर बेरोजगारी के लिए मोदी सरकार को जिम्मेदारी ठहराया। कार्यक्रम का नेतृत्व युवा कांग्रेस अध्यक्ष लोकेन्द्र वर्मा, उपाध्यक्ष अक्षय त्रिवेदी, विधानसभा अध्यक्ष नरेश पटेल ने किया।

कार्यक्रम में जिलाध्यक्ष लखन लाल पटेल भी शामिल रहे। इस अवसर जिलाध्यक्ष लखनलाल पटेल ने मोदी सरकार से सवाल किया कि प्रतिवर्ष दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने का वादा किया था लेकिन आज देश में बेरोजगारी चरम पर है। इस अवसर पर सरमनलाल मिश्रा, आदित्य सिंह, संतोष तिवारी, पुष्पेन्द्र कुशवाहा, आदर्श रावत, नमन रावत एवं हनीफ शेख सहित कार्यकर्ता मौजूद रहे।

युवा कांग्रेस ने भीख मांगकर मनाया बेरोजगार दिवस

झमटुली में जहां एक ओर पूरे जिले में प्रधानमंत्री का जन्मदिन मनाया जा रहा था तो वहीं दूसरी ओर युवा कांग्रेस प्रधानमंत्री के जन्मदिन को बेरोजगार दिवस के रूप में मना रही थी। बसारी ब्लॉक अध्यक्ष सत्येंद्र शर्मा के नेतृत्व में राजनगर तहसील क्षेत्र के ग्राम झमटुली में प्रदर्शन किया गया। सत्येंद्र शर्मा ने बताया कि प्रदर्शन के दौरान युवाओं ने भीख मांग कर सोई हुई मोदी सरकार को जगाने की कोशिश की है।

राजनगर में फूंका गया प्रधानमंत्री का पुतला

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष के संसदीय क्षेत्र राजनगर में तहसील भवन के सामने युवा कांग्रेस ने प्रधानमंत्री के जन्मदिवस को बेरोजगार दिवस के रूप में मनाते हुए पुलिस के सामने प्रधानमंत्री का पुतला फूंका। यह प्रदर्शन युवा कांग्रेस के विधानसभा अध्यक्ष गौरव सिंह बघेल के नेतृत्व में किया गया।

RAM KUMAR KUSHWAHA
भाषा चुने »