Please assign a menu to the primary menu location under menu

Saturday, November 26, 2022
खास समाचारडेली न्यूज़

वाह वाही लूटने का जरिया बना 100प्रतिशत वैक्सीनेशन समारोह

वाह वाही लूटने का जरिया बना 100प्रतिशत वैक्सीनेशन समारोहवाह वाही लूटने का जरिया बना 100प्रतिशत वैक्सीनेशन समारोह
Visfot News

पार्टी रंग में रंगा प्रशासनिक कार्यक्रम, सैकड़ों लोग टीकाकरण से आज भी वंचित
नौगांव। प्रशासन मानव जीवन के हर एक पहलू से संबंध रखता है जो नैतिक एजेंट के रूप में देखा जाता है जो लोगों की आवश्यकता ओं की पूर्ति और सरकार के लक्ष्यों तक पहुंचने में सहायता करता है लेकिन आज की प्रशासनिक व्यवस्थाएं संभालते संभालते मध्य प्रदेश शिवराज सरकार की मंशानुरूप भगवामय हो गई है।

वहीं प्रशासनिक अधिकारियों को अपनी कुर्सी न गवानी पड़े पार्टी रंग से प्रेम होने लगा है जिस का नजारा उस समय सामने आया जब नगर में आनन-फानन में अधिकारियों के निर्देशों पर स्थानीय प्रशासन ने नौगांव नगर पालिका को 100प्रतिशत वैिक्सनेटड घोषित कर हाल ही मे पांच अगस्त को रात्रि 10:00 बजे के दरम्यान टीकाकरण में सहयोग करने वालों को सम्मानित किया गया। जहां बनाया गया मंच पूर्ण रूप से पार्टी रंग में नजर आ रहा था अहम बात यह है कि इस समारोह की जानकारी आम जनता को उस समय पता चली जब समारोह की वकालत करने वाले और कमल को गिरवी रखने वाले चंद खबरनवीशों में इस कार्यक्रम का गुणगान किया। जिससे नगर के कई बुद्धिजीवियों ने वाह वाही लूटने का जरिया बताया नगर के ही कई बुद्धिजीवियों से बात की तो उन्होंने अपनी मिली जुली प्रतिक्रिया में एक ही बात कही की 100 प्रतिशत घोषित करना सही नहीं है क्योंकि आज भी कई नगर की महिलाएं पुरुष एवं युवा टीकाकरण से वंचित हैं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में वैक्सीन लगवाने पहुंचे नगर के युवा संतोष सेन, सुनील सोनी भूपेन्द्र सहित आधा दर्जन युवकों को निराशा हाथ लगी जब उन्हें पता चला कि वैक्सीन नहीं है। गोस्वामी का कहना है कि जब नगर का यह हाल है तो ग्रामीण इलाकों के रहवासियों का क्या होगा वहीं समाजसेवी संगठनों का मानना है कि आयोजन तभी होना चाहिए था जब वाकई में 100प्रतिशत का लक्ष्य पूरा हुआ हो लेकिन जिस प्रकार से प्रशासनिक अधिकारियों ने पार्टी रंग में रंगे मंच से पार्टी से जुड़े लोगों व प्रशासन से जुड़े अधिकारियों को सम्मानित किया गया उसमें जिला प्रशासन की मंशा पर सवाल उठाए जा रहे हैं जो एक तरह से वंचित लोगों का मुंह बंद रखने का एक जरिया बताया जा रहा है जो जनता की सुरक्षा के लिए चिंताजनक है जबकि यह सब कुछ क्लियर था कि नगर में बड़ी संख्या में लोग वैक्सीन से वंचित है उसके बावजूद 100 प्रतिशत टीकाकरण होने का दावा करना पार्टी में ऊंचे पदों पर बैठे नेताओं की नजर में वाहवाही लूट कर अपनी कुर्सियों को सुरक्षित रखने वाला समारोह बताया जा रहा है।
बात गले नहीं उतर रही
जब प्रशासन का कहना है और प्रमाण पत्रों में साफ उल्लेख है कि नगर में 100 प्रतिशत वैक्सीनेशन हो गया है तो फिर नगर के हाई स्कूल जो मेला ग्राउंड के सामने है वहां पर वैक्सीन लगवाने वालों की इतनी अधिक भीड़ क्यों हो रही है। लोगों का कहना है कि ये कार्यक्रम केवल दिखावा है और फर्जी लोगों को प्रमाण पत्र बांटकर कार्यक्रम की इतिश्री कर ली है। सूत्रों की माने तो नगर के हाई स्कूल में जहां वैक्सीन लग रही है वहां पर 19 अगस्त को 50 पहले डोज लगाए गए और 50 दूसरे डोज लगाए गए। अब इसमें मजेदार बात ये है कि जब 100 प्रतिशत वैक्सीनेशन हो गया है तो ये 50 डोज किसको लगाए गए। कहीं ऐसा तो नहीं कि वैक्सीन का दुरुपयोग हो रहा हो। इसमें दो बाते हैं कि या तो प्रशासन झूठ बोल रहा है या फिर वैक्सीन का दुरुपयोग हो रहा है।
अगले एपीसोड में पढि़ए छतरपुर में वैक्सीनेशन का क्या हाल…..

ritish ritishsahu
भाषा चुने »