Please assign a menu to the primary menu location under menu

Saturday, November 26, 2022
खास समाचार

मप्र में मंत्री समूह ने तय किया फॉर्मूला, 40-60 फॉर्मूले पर बनेगा बारहवीं का रिजल्ट

Visfot News

भोपाल। सीबीएसई के बारहवीं के रिजल्ट के फॉर्मूले के बाद जल्द ही एमपी बोर्ड के हायर सेकंडरी के रिजल्ट पर फैसला हो सकता है। प्रदेश में दो फॉर्मूलों पर विचार किया जा रहा है। एमपी बोर्ड 12वीं का रिजल्ट सीबीएसई की तर्ज पर बनाने पर विचार कर सकता है। इसके लिए सीबीएसई से रिजल्ट फॉर्मूले की विस्तृत जानकारी भी बुलाई गई है। वहीं मंत्री समूह ने रिजल्ट का 40-60 फीसदी का प्रस्ताव भी बनाया है। मंगलवार-बुधवार को इस संबंध में मंत्री समूह की बैठक होगी जिसमें रिजल्ट के फॉर्मूले पर विचार किया जाएगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मुहर के बाद जल्द ही इस फॉर्मूले को घोषित कर दिया जाएगा।
प्रदेश सरकार सीबीएसई के रिजल्ट के फॉर्मूले का इंतजार कर रही थी। सीबीएसई के फॉर्मूला के आधार पर ही एमपी बोर्ड के 12वीं के रिजल्ट तैयार करने पर विचार किया जा रहा था। लेकिन सीबीएसई के फॉर्मूले में प्रदेश सरकार को एक मुश्किल पेश आ रही है। सीबीएसई 10वीं,11वीं और 12वीं के प्री बोर्ड एग्जाम के रिजल्ट को आधार बनाया है, लेकिन प्रदेश में पिछले वर्ष 11वीं की परीक्षा नहीं हुई थीं और 12वीं में प्रमोट कर दिया गया था, इसलिए 11वीं के परिणामों को आधार नहीं बनाया जा सकता। सरकार सीबीएसई के फॉर्मूले में बदलाव कर रिजल्ट बना सकती है।
सीबीएसई का 30-30-40 फॉर्मूला
सीबीएसई के बनाए पैनल ने 12वीं के छात्रों के मूल्यांकन के लिए 30-30-40 का फॉर्मूला तय किया है। इसके तहत, 10वीं- 11वीं के फाइनल रिजल्ट को 30 प्रतिशत वेटेज दिया जाएगा। 12वीं के प्री- बोर्ड एग्जाम को 40 फीसदी वेटेज दिया जाएगा। सीबीएसई ने 4 जून को 12वीं के स्टूडेंट्स की मार्किंग स्कीम तय करने के लिए एक 13 सदस्यीय कमेटी गठन किया था। इस समिति को 10 दिनों में रिपोर्ट सौंपने के निर्देश दिए गए थे।
मप्र सरकार का फॉर्मूला
प्रदेश सरकार ने एक और फॉर्मूला तैयार किया गया है। इसमें कहा गया है कि अब दसवीं बोर्ड परीक्षा का परिणाम व बारहवीं के रिवीजन और छमाही परीक्षा के आधार पर बारहवीं का रिजल्ट तैयार किया जाएगा। ग्यारहवीं में कोरोना काल के कारण पिछले सत्र में भी परीक्षा नहीं हुईं इसलिए उस वर्ष के नंबर नहीं जोड़े जाएंगे। दसवीं के अंकों को 60 फीसदी और 12वीं के रिवीजन और छमाही रिजल्ट को 40 फीसदी वेटेज दिया जाएगा।

RAM KUMAR KUSHWAHA
भाषा चुने »