Please assign a menu to the primary menu location under menu

Saturday, November 26, 2022
देश

48 घंटे, 8 रैलियां, 5 निशाने; PM मोदी का दमदार प्रचार, गुजरात में ऐसे चला ‘पंच’

Visfot News

अहमदाबाद 
गुजरात विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की लगातार 7वीं जीत के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी दम लगा दिया है। उन्होंने 48 घंटों के दौरान 9 रैलियों में विपक्ष पर 5 बार निशाना साधा है। साथ ही उन्होंने चुनावी मुद्दों को घेरते हुए गुजरात की जनता को भी संदेश दिए हैं। हालांकि, गुजरात के रण में अभी एक सप्ताह से ज्यादा का समय बाकी है, लेकिन पीएम मोदी बुधवार को फिर बड़ी रैलियों का आगाज करने जा रहे हैं।

पीएम मोदी के पांच निशाने
पीएम मोदी ने कार्यकर्ता मेधा पाटकर को भारत जोड़ो में शामिल करने को लेकर राहुल गांधी को घेरा, कांग्रेस नेता की तरफ से दिए गए 'औकात' वाले बयान पर जवाब दिया, उन इलाकों पर ध्यान लगाया जहां भाजपा का प्रदर्शन बीते चुनाव में अच्छा नहीं था, मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल की रिकॉर्ड जीत की बात और गुजराती महिलाओं पर भाजपा का समर्थन करने के भरोसे की बात की।
 
मेधा पाटकर का मामला
कहा जा रहा है कि बीते सप्ताह भारत जोड़ो यात्रा में राहुल के साथ मेधा के चलने की तस्वीरें गुजरात में कांग्रेस को परेशान कर सकती हैं। पीएम मोदी ने बगैर नाम लिए कहा, 'कांग्रेस नेता से पूछें कि वह क्यों नर्मदा विरोधी कार्यकर्ता के साथ चल रहे थे। उन्होंने कानूनी अड़चनें और विरोध कर तीन दशकों तक सरदार सरोवर डेम प्रोजेक्ट को रोके रखा। केवल यह सुनिश्चित करने के लिए कि पानी यहां न पहुंचे।'

'औकात' की बात
भाषा के अनुसार, रैली को संबोधित करते हुए भाजपा के सबसे बड़े स्टार प्रचारक मोदी ने कहा, 'कांग्रेस अब चुनाव में विकास की बात नहीं करती है। इसकी जगह कांग्रेस के नेता मुझे औकात दिखाने की बात करते हैं। उनका घमंड देखिए। निश्चित तौर पर वे एक राज परिवार से हैं जबकि मैं एक जन सेवक हूं। मेरी कोई औकात नहीं है।' प्रधानमंत्री ने इस दौरान कांग्रेस नेताओं द्वारा पूर्व में उनके लिए किए गए आपत्तिजनक शब्दों के इस्तेमाल की ओर भी जनता का ध्यान दिलाया और कहा, 'पहले भी कांग्रेस ने मेरे लिए 'मौत का सौदागर', 'नीच आदमी' और 'नाली का कीड़ा' जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया है। मैं आपसे (कांग्रेस) अनुरोध करता हूं कि औकात की बात करने की जगह आप लोग विकास की बात करें।' मोदी ने कहा कि वह ऐसी चीजों पर ध्यान नहीं देते हैं क्योंकि उनका ध्यान भारत को विकसित राष्ट्र बनाने में केंद्रित है।

2017 की हार को जीत में बदलने की कोशिश
प्रधानमंत्री मोदी ने गुजरात में अभियान की शुरुआत उन इलाकों से की, जहां पार्टी ने अच्छा प्रदर्शन नहीं किया था और 99 के आंकड़े पर आ गई थी। पीएम पहले सोमनाथ और अमरेली इलाकों में पहुंचे। इन क्षेत्रों में कांग्रेस का प्रदर्शन अच्छा रहा था। चर्चा के दौरान उन्होंने भाजपा की तरफ से किए गए विकास कार्यों पर जोर दिया। कहा जा रहा है कि पीएम को पहले यहां लाकर भाजपा 2017 की हार को जीत में बदलना चाहती है।

रिकॉर्ड जीत की आस
भाजपा नेता लगातार कह रहे हैं कि राज्य में पार्टी सबसे बड़ी जीत दर्ज करेगी। पीएम ने भी इसी तरह की अपील की और कहा, 'भूपेंद्र भाई को नरेंद्र भाई की जीत का रिकॉर्ड तोड़ना चाहिए।' उन्होंने यह भी कहा कि वह भूपेंद्र पटेल के साथ मिलकर गुजरात को और बेहतर बनाने के लिए काम करेंगे।

महिला मतदाताओं पर भरोसा
जानकारों का मानना है कि भाजपा के बीते 27 सालों से गुजरात में सत्ता में आने में बड़ी भूमिका महिलाओं ने निभाई है। पीएम मोदी ने फिर महिलाओं से भाजपा को आशीर्वाद देने की अपील की है। महिलाओं को लेकर जारी कई योजनाओं पर उन्होंने कहा, 'महिलाओं माताओं बहनों का आशीर्वाद मेरी पूंजी है।'
 

RAM KUMAR KUSHWAHA
भाषा चुने »