Please assign a menu to the primary menu location under menu

Friday, December 2, 2022
खास समाचारमध्यप्रदेश

मप्र में कोरोना से लाखों लोगों ने गवाई जान: डॉ. विक्रांत भूरिया

Visfot News

छतरपुर। कोरोना की दूसरी लहर के कारण मप्र में लाखों लोगों की मौत हुई है। कई लोग इलाज और ऑक्सीजन के अभाव में दम तोड़ते रहे और सरकार झूठी वाहवाही लूटती रही। इतना ही नहीं सरकार ने मरे हुए लोगों के प्रमाण पत्र पर मौत का सही कारण भी नहीं लिखा जिससे कि उन्हें सरकारी सहायता मिल सके। मप्र में हुए कोरोना के मौत घोटाले की तह तक जाने के लिए युवक कांग्रेस के एक-एक कार्यकर्ताओं को गांव-गांव भेजा जा रहा है। हमें एक-दो महीने का वक्त दीजिए, मौत के सच्चे आंकड़े लाकर हम सरकार को घेरेंगे। यह बात युवक कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष डॉ. विक्रांत भूरिया ने मंगलवार को जिले के प्रवास के दौरान कही। उन्होंने कांग्रेस कार्यालय में संगठनात्मक बैठक लेकर कार्यकर्ताओं को 2023 और 2024 के चुनाव के साथ-साथ पृथ्वीपुर के उपचुनाव के लिए भी तैयार किया। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में युवक कांग्रेस पेट्रोल डीजल के बढ़ते दामो, कोरोना महामारी के दौरान हुए घोटालों को उठा रही है। इसके साथ ही युवक कांगे्रस द्वारा आम जनता की मदद के लिए कोरोना की लहर के दौरान कल्याणकारी काम भी किए गए। युवक कांग्रेस की बैठक के बाद श्री भूरिया एसपी कार्यालय पहुंचे जहां उन्होंने पुलिस अधीक्षक सचिन शर्मा से दो मुद्दों पर कार्यवाही की मांग की। उन्होंने पुलिस अधीक्षक से कहा कि बड़ामलहरा क्षेत्र के ग्राम पटिया निवासी ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष इन्द्रप्रताप सिंह छोटेराजा के हत्यारे आज भी फरार हैं इन्हें गिरफ्तार किया जाए साथ ही पिछले दिनों चौका निवासी कांग्रेस नेता राजेन्द्र सिंह के 77 वर्षीय पिता पर एक झूठी एफआईआर दर्ज की गई जिसकी निष्पक्ष जांच कराई जाए। डॉ. भूरिया के साथ कांग्रेस के जिलाध्यक्ष लखनलाल पटेल, कार्यकारी जिलाध्यक्ष अनीस खान, यूथ कांग्रेस के जिलाध्यक्ष लोकेन्द्र वर्मा, उपाध्यक्ष अक्षय त्रिवेदी, अदित सिंह, अभिलेख खरे सहित अनेक कार्यकर्ता मौजूद रहे। यूथ कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष डॉ. विक्रांत भूरिया ने कहा कि बक्स्वाहा में सरकार हीरे के लिए दो लाख से ज्यादा पेड़ों को काटने जा रही है जो कि पर्यावरण और स्थानीय निवासियों पर एक कुठाराघात है। उन्होंने कहा कि मैं बक्स्वाहा का दौरा कर स्थानीय लोगों से मिलूंगा और इस मुद्दे को लेकर जन आंदोलन खड़ा करूंगा। उन्होंने कहा कि कांगे्रस कार्यकर्ता बक्स्वाहा के जंगल नहीं कटने देंगे। जब उनसे पूछा गया कि बक्स्वाहा में हीरा खनन की अनुमति आपकी ही कमलनाथ सरकार के द्वारा दी गई थी तब विरोध क्यों नहीं किया। इस पर भूरिया ने कहा कि पहले क्या हुआ इस पर मैं कुछ नहीं कह सकता लेकिन अब पेड़ों को काटना उचित नहीं है और वे पेड़ों को बचाने के पक्षधर हैं।

RAM KUMAR KUSHWAHA
भाषा चुने »