Please assign a menu to the primary menu location under menu

Saturday, November 26, 2022
खास समाचारमध्यप्रदेश

राज्‍य ओपन बोर्ड की परीक्षाएं 16 अगस्त से होंगी शुरु

Visfot News

10वीं एवं 12वीं की परीक्षा 16 तथा पांचवीं व आठवीं की 17 अगस्त से
भोपाल। मध्यप्रदेश राज्य (मुक्त) स्कूल शिक्षा बोर्ड की परीक्षाएं आगामी सोलह अगस्त से प्रारंभ होने जा रही है।ओपन बोर्ड की परीक्षा संबंधी तैयारी अं‎तिम चरणों में है। सर्वप्रथम 10वीं एवं 12वीं की परीक्षा 16 अगस्त से होंगी। उसके बाद पांचवीं व आठवीं के निजी विद्यार्थियों की परीक्षाएं 17 अगस्त से आयोजित होगी। ओपन बोर्ड ने दोनों परीक्षाओं के कार्यक्रम जारी कर दिए हैं। हालांकि इस साल कोरोना के कारण सीबीएसई से लेकर मप्र बोर्ड की 10वीं व 12वीं की परीक्षाएं निरस्त कर दी गई हैं।इसी तर्ज पर अभिभावकों द्वारा मप्र राज्य ओपन बोर्ड की 10वीं व 12वीं की परीक्षा को भी निरस्त करने की मांग की जा रही थी, लेकिन ओपन बोर्ड ने परीक्षा रद नहीं की। राज्य ओपन बोर्ड के अधिकारियों का कहना है कि ओपन बोर्ड के विद्यार्थी नियमित नहीं होते हैं और न उनके मूल्यांकन के लिए कोई परीक्षा ली जाती है। इस कारण उनका मूल्यांकन कर रिजल्ट घोषित करना संभव नहीं है, जबकि नियमित विद्यार्थियों की तिमाही, छमाही परीक्षाएं ली जाती हैं।इस कारण ओपन बोर्ड के 10वीं व 12वीं की परीक्षा अगस्त में ली जा रही है। बता दें कि 10वीं व 12वीं की परीक्षा में करीब 10 हजार विद्यार्थी शामिल होंगे। इसके लिए प्रदेश के सभी 52 जिलों में परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। ओपन बोर्ड ने परीक्षा संबंधी समय-सारिणी और दिशा-निर्देश वेबसाइट पर जारी कर दिए हैं। ओपन बोर्ड की 10वीं व 12वीं की परीक्षा 16 अगस्त से एक सितंबर तक चलेंगी। 10वीं की गणित विषय की परीक्षा 16 अगस्त को सुबह आठ से 11 बजे तक और 12वीं की परीक्षा दोपहर दो से शाम पांच बजे तक आयोजित की जाएगी।राज्य ओपन स्कूल की ओर से पांचवीं व आठवीं के निजी विद्यार्थियों की परीक्षा 17 अगस्त से शुरू होगा, जो 24 अगस्त तक चलेगी। पांचवीं की परीक्षा सुबह आठ से 10:30 बजे तक और आठवीं की परीक्षा सुबह आठ बजे से 11 बजे तक होगी। इसमें करीब एक हजार विद्यार्थी शामिल होंगे। महर्षि संस्कृत संस्थान द्वारा पांचवीं, आठवीं, नौवीं, 10वीं एवं 11वीं के बच्चों की परीक्षाएं नहीं ली जाएंगी। इनका नियमित मूल्यांकन के आधार पर रिजल्ट तैयार किया जाएगा। वहीं 12वीं के बच्चों का 10वीं व 11वीं के आधार पर मूल्यांकन कर रिजल्ट तैयार किया जाएगा। इन सभी कक्षाओं में करीब छह हजार विद्यार्थी हैं। इस बारे में मप्र राज्य ओपन बोर्ड निदेशक पीआर तिवारी का कहना है ‎कि ओपन बोर्ड के विद्यार्थी नियमित न होने के कारण इनका मूल्यांकन किया जाना संभव नहीं है। इस कारण इनकी परीक्षा ली जा रही है, जबकि संस्कृत बोर्ड के बच्चों की परीक्षा नहीं ली जाएगी। उनका नियमित मूल्यांकन होगा।

RAM KUMAR KUSHWAHA
भाषा चुने »