Please assign a menu to the primary menu location under menu

Friday, December 2, 2022
देश

बेहिसाब बारिश से बेंगलुरु त्रस्त, चेन्नई की भी हालत खराब

Visfot News

बेंगलुरु
नवंबर के महीने में तमिलनाडु और कर्नाटक में हो रही बारिश ने लोगो का जीना मुहाल किया हुआ है। तमिलनाडु में तो मानसूनी बारिश हो रही है लेकिन इस बारिश की वजह से पूरा कर्नाटक खासकर के राजधानी बेंगलूरु प्रभावित है, यहां पर हो रही बारिश से जहां तापमान में लगातार गिरावट हो रही है वहीं पर जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। बुधवार रात से शुरू हुई बारिश का दौर अभी तक जारी है, जिसकी वजह से गुरुवार सुबह बच्चों को स्कूल और लोगों को ऑफिस जाने में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा है।

 आईएमडी ने कहा है कि बेंगलुरु में आज पूरे दिन मौसम का यही हाल रहने वाला है। कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु इस वक्त काफी ठंडा हो गया है। यहां पर कल न्यूनतम तापमान 19.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। आज उडुपी, दक्षिण कन्नड़, उत्तर कन्नड़ ,शिवमोग्गा, कोडागु , हसन, मांड्या, रामनगर, मैसूर, तुमकुरु, विजयपुरा और हावेरी में भी भारी से बहुत भारी बारिश होने की आशंका है। 

 वहीं कोयम्बटूर में 31.3 डिग्री और चेन्नई में तापमान 24.9 डिग्री रहा। तमिलनाडु के रानीपेट में स्कूलों और कॉलेजों में छुट्टी कर दी गई है। चेन्नई में लगातार बारिश से तापमान 23 डिग्री सेल्सियस तक गिर गया है। मौसम विभाग का कहना है कि राज्यों में भारी बारिश मानसून के अलावा बंगाल की खाड़ी में बने एक डिप्रेशन की वजह से हो रही है, हालांकि अगले 24 घंटों में ये दवाब कमजोर पड़ेगा और मौसम सुधरेगा। यही नहीं आईएमडी ने कहा है कि अगले 24 घंटों के दौरान लद्दाख, जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में बारिश और हिमपात की आशंका है तो वहीं दूसरी ओर दिल्ली समेत उत्तर भारत में अब जमकर ठंड देखने को मिलेगी। इन राज्यों में ऐसा रहेगा मौसम तो वहीं मौसम की जानकारी देने वाली निजी एजेंसी स्काईमेट वेदर ने कहा है कि आज पूरे दिन दक्षिण भारत में बादल बरसेंगे।

 कर्नाटक, तमिलनाडु, आंध्रा में जमकर बारिश होगी तो वहीं पहाड़ों पर भी हल्की बारिश और स्नोफॉल का अनुमान है। तो वहीं उत्तर पश्चिम से शुष्क और ठंडी हवाओं की वजह से उत्तर भारत के तापमान में गिरावट आएगी और सर्दी बढ़ेगी। दिल्ली की सुबह आज भी सर्द है और सुबह-सुबह यहां पर कोहरा भी देखा गया है और आने वाले दिनों में ये गिरावट यूं ही जारी रहेगी।
 

RAM KUMAR KUSHWAHA
भाषा चुने »