Please assign a menu to the primary menu location under menu

Friday, December 2, 2022
देश

Measles outbreak: मुंबई में बढ़ रहा है खसरा रोग का प्रकोप, एक महीने में 13 मौतें

Visfot News

मुंबई 
मुंबई के आस-पास इलाकों में खसरा रोग का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है। एक महीने में खसरा से 13 मौतें हो गई हैं। बुधवार तक मुंबई में 233 मामले दर्ज किए गए थे, जिनमें से 200 से अधिक पिछले दो महीनों में दर्ज किए गए हैं। यह डेटा पिछले कुछ सालों की तुलना में बहुत अधिक है। मुंबई में 2021 में 10 मामले और 1 मौत हुई थी, 2020 में 29 मामले सामने आए थे और एक भी मौत नहीं हुई थी। 2019 में 37 मामले और 3 मौतें हुई थीं। लेकिन इस साल खसरा रोग का कहर बढ़ गया है।
 
अब तक हुई 13 मौतों में से 09 मुंबई से थीं जबकि बाकी शहर के अन्य इलाकों में हुई हैं। एक नालासोपारा से और तीन भिवंडी से। इसमें से जबकि तीन मौतें 0-11 महीने के नवजात बच्चे थे। वहीं 08 मौतें 1-2 वर्ष के बीच और दो मौत 3-5 वर्ष के बीच हुई थी। पहली मौत 26-27 अक्टूबर के बीच हुई थी, जब गोवंडी इलाके में 48 घंटे के भीतर तीन बच्चों फजल खान (13 महीने), नूरेन (साढ़े तीन साल), हसनैन (5 साल) की मौत हो गई थी। ठाणे के कलवा जिला अस्पताल में मरने वाली 14 महीने की एक बच्ची के अलावा, अन्य सभी मौतें मुंबई के अस्पतालों में हुईं।

 
बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक बुधवार को खसरा के 30 नए मामले सामने आए हैं। रोगियों को शहर के सरकारी अस्पतालों में भर्ती कराया गया। जबकि इस दौरान 22 रोगियों को छुट्टी दे दी गई। 17 नवंबर तक के डेटा के मुताबिक मुंबई के आसपास के क्षेत्रों से मालेगांव में 51 केस, भिवंडी में 37 केस, ठाणे में 28 मामले, नासिक में 17 मामले, ठाणे ग्रामीण में 15 मामले, अकोला में 11 केस, नासिक और यवतमाल में 10-10 केस और कल्याण-डोंबिवली और वसई-विरार में नौ-नौ मामले दर्ज किए गए हैं। महाराष्ट्र में बुधवार तक केस काउंट 553 हो गया है, जो पिछले साल की तुलना में छह गुना अधिक है। राज्य ने 2020 में 193 मामले और 3 मौतें दर्ज की गई थी। 2019 में 153 मामले और 3 मौतें दर्ज हुई थीं।

RAM KUMAR KUSHWAHA
भाषा चुने »