Please assign a menu to the primary menu location under menu

Saturday, November 26, 2022
डेली न्यूज़

आवारा पशुओं को गौशालाओं में भेजने के निर्देश

Visfot News

छतरपुर। लगभग एक माह पहले कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह ने जिले की सडक़ों पर घूम रहे आवारा पशुओं को बारिश के पूर्व गौशालाओं में भेजने के निर्देश दिए थे। उक्त निर्देश के बाद सीईओ जिला पंचायत ने नगर पालिका शहरी अभिकरण के माध्यम से सभी नगर निकायों को इस हेतु पत्र भी लिखा लेकिन दोनों वरिष्ठ अधिकारियों का यह आदेश हवा-हवाई हो गया। बारिश शुरू हो चुकी है। आवारा पशु खेतों में बैठने की जगह अब जिले भर के हाइवे और प्रमुख सडक़ों पर आ चुके हैं। इन पशुओं के कारण यातायात की दिक्कतों के अलावा हादसों की आशंकाएं बनी रहती हैं। बारिश के कारण पशुओं को मक्खियों के काटने की दिक्कतें प्रारंभ हो जाती हैं इसलिए खेतों में बैठने वाले पशु भी इन दिनों सूखी सडक़ों पर बैठने लगते हैं। छतरपुर के सभी राष्ट्रीय राजमार्गों पर इन दिनों बड़ी संख्या में आवारा पशु आ चुके हैं। जिला मुख्यालय पर भी दर्जनों की संख्या में एक-एक स्थान पर बैल, गाय बैठे नजर आ रहे हैं। इन पशुओं के चलते पहले भी कई दुर्घटनाएं हो चुकी हैं। आने वाले दिनों में भी दुर्घटनाओं की आशंका बनी हुई है। जिले में फिलहाल 30 गौशालाएं मौजूद हैं जहां गौवंश को रखने के लिए शासन अनुदान दे रहा है। इसके साथ ही कमलनाथ सरकार के कार्यकाल में जिले में पंचायतों के स्तर पर भी गौशालाओं के निर्माण शुरू हुए थे। इस योजना के तहत भी तकरीबन 70 गौशालाएं निर्माणाधीन हैं। गौवंश को रखने के लिए अधोसंरचना और अनुदान की कोई कमी नहीं है फिर भी आवारा जानवरों को शिफ्ट नहीं किया जा रहा है।

RAM KUMAR KUSHWAHA
भाषा चुने »