Please assign a menu to the primary menu location under menu

Tuesday, December 6, 2022
डेली न्यूज़

विद्युत उपभोक्ताओं पर 6.33 करोड़ का बिजली बिल बकाया

विद्युत उपभोक्ताओं पर 6.33 करोड़ का बिजली बिल बकाया

विद्युत उपभोक्ताओं पर 6.33 करोड़ का बिजली बिल बकायाविद्युत उपभोक्ताओं पर 6.33 करोड़ का बिजली बिल बकाया
Visfot News

छतरपुर। शहर वितरण केन्द्र में 18039 उपभोक्ताओं के ऊपर 6.33 करोड़ रू बिजली बिल के बाकी हैं। जिसमें से घरेलू उपभोक्ता 15173 एवं गैर घरेलू के 2616 उपभोक्ता हंै। शहर से नगर पालिका के विद्युत कनेक्शनों में 1.25 करोड़ का बिजली बिल बाकी है जिसमें नगर पालिका छतरपुर द्वारा प्रतिमाह 12 लाख रू जमा भी किये जा रहे है। उधर वसूली के लिए अब शिविर लगाए जा रहे हैं। घरेलू-गैर घरेलू बकाया राशि वाले उपभोक्ताओं के प्रतिदिन सुबह 5 बजे से शाम 5 बजे तक 678 उपभोक्ताओं के जिन पर 53.87 लाख रू बकाया राशि जमा कराने हेतु शहर के लोधी कुईया, बगौता तिराहा, विश्वनाथ कॉलोनी ,लखेरा तिगडडा में कैम्प लगाकर विद्युत देयक राशि जमा करने हेतु समझाईश दी गई एवं उनकी समस्याओं का निपटारा भी किया गया।
दीपावली के बाद होगी कुर्की
बकाया देयक जमा न करने पर 768 उपभोक्ताओं पर 92.65 लाख रूपए बकाया होने के कारण भू राजस्व संहिता 1959 की धारा 146 के अन्तर्गत मांग पत्र आर.आर.सी. नोटिस भी जारी किए गए है। जिसमें से 206 उपभोक्ताओं के द्वारा अपने विद्युत देयक जमा भी कर दिया गया। 562 उपभोक्ताओं के ऊपर बकाया राशि जमा न करने के कारण कुर्की की कार्यवाही की जावेगी। विद्युत कंपनी ने कहा है कि कुर्की की कार्यवाही एवं विद्युत विच्छेेदन की कार्यवाही से बचने हेतु उपभोक्ता दीपावली के पूर्व अपने देयक जमा करें।
खपत कम दिखा रहे मीटरों की हो रही जांच, 72 घरों में पकड़ी चोरी
सहायक अभियन्ता शहर रिंकू मैना द्वारा बताया गया कि शहर में 17 फीडर है। जिसमे गल्लामण्डी फीडर में 35.58 प्रतिशत लाइन लोस, बस स्टेन्ड फीडर 35.87 प्रतिशत लोस, सेन्ट्रल स्कूल फीडर में 35.6 प्रतिशत लोस, बाजार फीडर में 35.22 प्रतिशत लोस एवं बगौता फीडर में 34.93 प्रतिशत लाइन लॉस है। इन फीडरों में विशेष अभियान चलाकर कम खपत वाले 233 उपभोक्ताओं के परिसर की जांच की गई जिसमे 72 उपभोक्ताओं के यहां अनियमितता पाई गई एवं विद्युत अधिनियम की धारा 126 -135 के तहत प्रकरण तैयार कर रिकवरी निकाली गई। प्रति दिन की कार्यवाही से बिजली चोरों में हड़कम्प मचा हुआ है।

RAM KUMAR KUSHWAHA
भाषा चुने »