Please assign a menu to the primary menu location under menu

Tuesday, December 6, 2022
खास समाचार

किस नेता ने कितने तबादले कराए, संगठन को बताएंगे मंत्री

Visfot News

सिफारिश करने वालों का दर्ज किया जा रहा है रिकॉर्ड
भोपाल। प्रदेश में इन दिनों तबादलों का सीजन चल रहा है। सत्तारूढ़ भाजपा मुख्यालय से लेकर मंत्रियों के बंगलों पर अच्छी खासी भीड़ उमड़ रही है। इस बीच कुछ मंत्रियों के स्टाफ द्वारा पैसों की मांग करने का मामला संगठन तक पहुंचन के बाद मंत्रियों की क्लास लग चुकी है। ऐसे में अब मंत्री बंगलों पर उन नेता एवं पदाधिकारियों की सूची बन रही हैं, जिन्होंने तबादलों की सिफारिशें भिजवाई हैं या खुद लेकर पहुंचे हैं। समय आने पर मंत्री संगठन के सामने यह लेखा-जोखा पेश करेंगे कि उन्होंने किस नेता, विधायक, सांसद एवं संघ नेताओं की सिफारिशों पर कितने तबादले किए हैं।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दो साल बाद तबादलों से रोक हटाई है। जिसके तहत 1 से 31 जुलाई तक प्रदेश में नीति के अनुसार तबादले होना है। तबादल अवधि बीतने में अभी महज 4 दिन शेष हैं, ज्यादातर विभाग और जिलों में तबादला आदेश नहीं निकले हैं। जिलों में तबादलों की ज्यादातर सिफारिशें जिलाध्यक्ष, विधायक एवं स्थानीय नेताओं ने की हंै। प्रदेश स्तर पर भी सिफारिशें भेजी हैं। संघ नेताओं द्वारा भी तबादलों की सिफारिशें की जा रही हैं। सभी की सिफारिशों पर तबादले करना मंत्रियों के वश में नहीं है। ऐसे में मंत्रियों को डर है कि तबादला अवधि बीतने के बाद संगठन तक उनकी शिकायतें पहुंचेंगी। पार्टी नेता एवं विधायक उन पर सुनवाई नहीं करने के आरोप लगाएंगे। ऐसी स्थिति से निपटने के लिए मंत्रियों ने सिफारिश करने वाले नेताओं की कुंडली तैयार करना शुरू कर दिया है। जो नेता फोन पर तबादले की सिफारिश कर रहे हैं, उनसे संबंधित कर्मचारी एवं अधिकारी का सिफारिशी पत्र लिखकर लिया जा रहा है। सूची में कर्मचारी के साथ सिफारिश करने वाले नेता एवं पदाधिकारी का नाम भी नोट किया जा रहा है।
संगठन को सौंपेंगे सूची
यदि किसी मंत्री पर तबादलों में पैसा लेने या अन्य किसी तरह के आरेाप लगते हैं तब मंत्री संगठन के सामने सिफारिश करने वालों की सूची पेश करेंगे और बताएंगे कि किस नेता, विधायक, सांसद एवं पार्टी के कहने पर कितने तबादले किए गए हैं।
इसलिए बने स्थिति
तबादलों में हमेशा से सिफारिशें हो रही हैं। लेकिन हाल ही में संगठन के समक्ष पार्टी नेताओं ने मंत्रियों पर काम नहीं करने और स्टाफ पर पैसा मांगने के आरोप लगाए हैं। कुछ मंत्रियों के स्टाफ की रिकॉर्डिंग भी संगठन तक पहुंचाई गई। किसी तरह के आरोपों से बचने के लिए मंत्री सिफारिश करने वालों की कुंडली तैयार करा रहे हैं।

RAM KUMAR KUSHWAHA
भाषा चुने »